भाई, जुर्म यहाँ कम है

Apr 5, 2007

जो कह रहे हैं,
"भाई, जुर्म यहाँ कम है",
सचमुच,
उनकी एक्टिंग में बड़ा दम है,
यहाँ मुझे लग रहा है,
साढ़े पाँच बज गए हैं,
रात,
धीरे धीरे,
अपनी चादर फैलाएगी,
ट्यूशन छूटने में एक घंटा बाकी है,
मेरी बेटी,
घर वापस कैसे आएगी।

3 प्रतिक्रियाएं:

संजय बेंगाणी said...

शब्दो के भावो में दम है.
आप कवि कहाँ कम है.

Arpit Bansal said...

Abhinav ji, bahut badiya ..

aaj aapka blog aur profile pada.

aapka koi contact details ho to dijiye

Arpit Bansal

अभिनव said...

Arpitji,

My mail id is shukla_abhinav at yahoo.com and phone is 206-694-3353 ..